Breaking News

         

Home / BLOG

BLOG

भारतीय होने पर गर्व महसूस करा रही ‘परमाणु’

प्रशांत रंजन: हमारे बीच कई ऐसे लोग होते हैं, जो देश-समाज की भलाई के लिए अपना जीवन समर्पित कर देते हैं। इनमें से कितने ऐसे होते हैं जिन्हें हम या हमारी अगली पीढ़ी नहीं जान पाती है। लोग अपने देश-समाज के उन अनजाने नायक/नायिकाओं के बारे में जानें, इसमें सिनेमा …

Read More »

ऑफिस में दंड पेलने वाले मंत्री जी को रविश कुमार ने खुले पत्र में दिया करारा जवाब

सेवा में, माननीय राज्यवर्धन  राठौर जी आपका एक नया वीडियो देख रहा हूं, जिसमें आप भारत सरकार के कार्यालय में पुश-अप कर रहे हैं. उम्मीद है, आपके मंत्रालय के सचिव, निदेशक और सभी कर्मचारी काम छोड़कर पुश-अप कर रहे होंगे. बिना काम छोड़े पुश-अप तो हो नहीं सकता. मैं जानना …

Read More »

राजदेव रंजन :- बस इतना याद रहे एक साथी और भी था !

डी. एस. तोमर की कलम से.. वरीय पत्रकार/प्रबंध निदेशक तोमर’स मीडिया प्राइवेट लिमिटेड बिहार 13 मई 2016 की ओ मनहूसियत भरी शाम जो पत्रकारिता जगत के इतिहास में काला दिवस के नाम से दर्ज हो गई । तपती दोपहर के बाद थोड़ी सी सुकून भरी शाम थी । सभी लोग …

Read More »

समाज में महिलाओं पर हो रही हिंसा पर एक बेटी का दर्द, जरूर पढ़ें

न्यूज़ डेस्क: जन्म से पहले मारल जाता उ बेटी के जारल जाता इ का होता ए बिधाता हमारा त कुछु ना बुझा ता बेटी हई घर के लक्ष्मी बेटी हई जग के जननी तब काहे गर्दन कटाता इ का होता ए बिधाता हमारा कुछु ना बुझा ता भइल बा का …

Read More »

​हमने गाँधी से सीखा ! 

मनोज कुमार दुबे का स्वच्छ्ता अभियान और गांधी के आदर्शों पर एक blog:—— पोरबंदर गुजरात से निकल कर ब्रिटेन और फ़िर भारत की भूमि से दक्षिण अफ्रीका टालसटॉय फॉर्म , सेंट पीट्सबर्ग और पुनः भारत आते आते एक साधारण सा इंसान मोहन दास एक विचार बनकर उभरे , उन दिनो …

Read More »

​जब बलिया जिले के एक गाँव मॆ झाडू और सफाई किट लेकर निकल पड़ते है युवा, कर रहे स्वच्छ भारत के सपने को साकार

बलिया से मनोज कुमार दुबे की रिपोर्ट:—- उत्तर प्रदेश के बलिया जिला मुख्यालय से 18 किलोमीटर दुर एक गाँव है छितौनी जहाँ भगवान शिव के साक्षात स्वरूप छितेश्वर नाथ की नगरी के रुप मॆ जाना जाता है यह स्थान बलिया के साथ साथ पडोसी राज्य बिहार के लोगो का भी …

Read More »

​बहन हम शर्मिंदा है, तेरा कातिल जिंदा है!

मनोज कुमार दुबे:- बलिया जनपद की एक होनहार बिटिया का जिसप्रकार एक सिरफिरे आवारा ने सरेराह कत्ल कर दिया ये बलिया के गौरवशाली इतिहास कॊ रक्षाबन्धन की सुबह कालिख पोतने जैसा रहा ! हालाँकि हत्या का आरोपी गिरफ्तार हो चुका है लेकिन भारतीय समाज मे इस तरह की रोज़ रोज़ …

Read More »

मोहब्बत आज भी जिंदा है “शहर” ।

जिंदगी ने हमेशा मेरे साथ खेल खेला । तब भी मैंने मुस्कुराना सीखा, वक़्त से लड़ना सीखा । मुझे जब भी लगता था कि मंजिल के करीब हूँ । एक ही पल में अपने आप को बहुत दूर पाता था । पर नियति को कुछ और मंजूर था । मैं …

Read More »

एहसास कहूँ मन का, या फिर सुकून…

जब पास रहती हो तो न जाने क्यूँ ? मन, इतना सुकून महसूस करता है । सच तो ये भी है कि मेरे एहसास केवल तुम्हारे लिए ही है । मन कहता है कि हम एक लिवास की तरह तुम्हारे बदन को ढके हुए है । और सच ये भी …

Read More »
error: Content is protected !!