Breaking News

         

Home / सिवान / सीवान टीईटी शिक्षक संघ ने पटना में  टीईटी अभ्यर्थियों पर बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज की घोर भर्त्सना की

सीवान टीईटी शिक्षक संघ ने पटना में  टीईटी अभ्यर्थियों पर बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज की घोर भर्त्सना की

अमित/सीवान : लगभग दो साल से आवेदन करने के पश्चात नियोजन की प्रतीक्षा कर रहे टीईटी अभ्यर्थियों द्वारा पटना के गर्दनीबाग धरना-स्थल पर पिछले दो दिनों से शांतिपूर्ण तरीके से धरना-प्रदर्शन का कार्यक्रम चल रहा था। इसी क्रम में मंगलवार की रात्रि टेट अभ्यर्थियों पर पटना पुलिस द्वारा लाठीचार्ज कर धरना स्थल से भगा दिया गया। लाठीचार्ज के क्रम में बहुत सारे टीईटी अभ्यर्थी गंभीर रूप से घायल भी हुए है। वही बिहार पुलिस की इस कायरतापूर्ण कार्यवाई की निंदा करते हुए संघ के अध्यक्ष रजनीश कुमार मिश्र ने कहा कि बेराजगारी की दंष झेल रहे व रोजगार के लिए प्रतीक्षारत टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों पर इस तरह बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज व पुलिसिया कार्यवाई की घटना अति निंदनीय है। इसकी जितनी निंदा की जाय कम है। देश में बिहार ही एकमात्र ऐसा राज्य है जहां शिक्षकों की नियुक्ति नियोजन इकाईयों के माध्यम से होती हैं लेकिन इन पर सरकार के आदेश का कोई असर नहीं होता। यह नियोजन इकाईयां अपनी मर्जी से काम करती हैं। बार-बार मेधा सूची प्रकाशन की तिथि का आदेश राज्य सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा जारी होता है लेकिन इन पर उसका कोई असर नहीं होता।

ज्ञातव्य हो कि राज्य में छठे चरण शिक्षक नियोजन प्रक्रिया के तहत 94000 शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया चल रही है जिसके लिए 9000 नियोजन इकाईयों में टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों से लगभग दो वर्ष पूर्व ही आवेदन आमंत्रित किए गए थे लेकिन आज तक इन इकाईयों द्वारा राज्य सरकार के बार-बार आदेश के बावजूद अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन नही किया गया है।

धरना स्थल पर सोए टीईटी अभ्यर्थी

शिक्षक नेता राजीव सिंह ने बिहार सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य के वर्तमान शिक्षा मंत्री जहां जाते है शिक्षकों की योग्यता व उनकी कार्यक्षमता पर प्रश्न खड़ा करते है लेकिन इन शिक्षकों की दोषपूर्ण नियोजन प्रक्रिया व राज्य सरकार का शिक्षा के प्रति उदासीनता व विफलता को उजागर नहीं करते। यह राज्य सरकार की विफलता ही है कि आज लगभग दो वर्षों से एक बहाली की प्रक्रिया राज्य में चल रही है जो अब तक पूरी नही हुई। अब बेरोजगारी की मार झेल रहे युवाओं से 9000 नियोजन इकाइयाँ बनाकर उसमें आवेदन लेना तथा फिर नियोजन प्रक्रिया को लेकर टालमटोल करना उस पर से नियोजन की शांतिपूर्ण तरीके से मांग कर रहे इन अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज की घटना राज्य सरकार की संवेदनहीनता का द्योतक है।

लाठीचार्ज के बाद ख़ाली पड़ा धरना स्थल

वही शिक्षक नेता श्रीकांत सिंह ने कहा कि टीईटी शिक्षक संघ सरकार से यह माँग करती है कि पुलिस द्वारा निर्दोष अभ्यर्थियों पर दर्ज एफआईआर को वापस लेकर जल्द-से-जल्द पूरी नियोजन प्रक्रिया को केंद्रीयकृत करते हुए नियोजन प्रक्रिया को पूर्ण करें अन्यथा अपनी लोकतांत्रिक अधिकारों की मांग को लेकर सड़क पर उतरे अभ्यर्थियों के साथ बर्बरतापूर्ण कार्यवाई सरकार के ताबूत में अंतिम कील साबित होगा।

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

डुमरा से पैक्स अध्यक्ष पद पर ओमप्रकाश तिवारी ने जमाया कब्ज़ा

अमित/सिवान : सिवान के सभी प्रखंडों में सीमित पंचायतो में पैक्स अध्यक्ष पद के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: