Breaking News

         

Home / सिवान / सरकार सख्त : बिना ऑनलाइन टेस्ट परीक्षा पास किए नहीं बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

सरकार सख्त : बिना ऑनलाइन टेस्ट परीक्षा पास किए नहीं बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

सिवान:  बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सरकार ने एक फार्मूला तैयार किया है। ड्राइविग लाइसेंस बनवाने वाले आवेदकों को अब ऑनलाइन जांच परीक्षा पास करनी होगी। परीक्षा पास किए बिना उनका लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा। बता दें कि लर्निंग लाइसेंस के लिए अप्लाई करते समय आवेदक को परिवहन नियमों से जुड़े कुछ सवाल ऑनलाइन पूछे जाएंगे। पूछे गए सवालों का गलत जवाब देने व न्यूनतम क्वालिफाइंग मा‌र्क्स प्राप्त नहीं करने पर उनके आवेदन को निरस्त कर दिया जाएगा। सरकार का यह मानना है कि वाहन चालकों को परिवहन नियमों व सुरक्षा मानकों की जानकारी नहीं होना सड़क दुर्घटनाओं का सबसे बड़ा कारण है। जिला परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि इस फॉर्मूले से चालकों को ड्राइविग लाइसेंस लेने से पहले हीं नियमों की जानकारी हो जाएगी। साथ हीं साथ सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी।

परिवहन कार्यालय

छह माह में देना होगा दोबारा टेस्ट :

लर्निंग लाइसेंस मिलने के छह माह के भीतर आवेदकों को स्थाई लाइसेंस लेने के लिए आवेदन देना होगा। स्थाई लाइसेंस लेने से पहले आवेदकों को दोबारा टेस्ट देना होगा। टेस्ट में पास होने के बाद उन्हें ड्राइविग लाइसेंस जारी किया जाएगा।

इससे संबंधित पूछे जाएंगे सवाल :

टेस्ट में ड्राइविग और यातायात नियमों से जुड़ी बेसिक जानकारी पूछी जाएगी। साथ हीं सड़क पर बने साइनेज को दिखाकर सवाल पूछे जाएंगे। साथ हीं साथ ट्रैफिक सिग्नल पर लगी लाल, पीली व हरी बत्तियों के बारे में सवाल पूछे जाएंगे। स्पीड लिमिट से संबंधित सवाल भी टेस्ट में शामिल होंगे। नो हार्न जोन, सावधान आगे स्कूल है आदि से संबंधित जानकारी आवेदकों से टेस्ट के रूप में लिया जाएगा।

घर बैठे भी दे सकेंगे ऑनलाइन टेस्ट :

लर्निंग लाइसेंस लेने वाले आवेदक घर बैठे हीं ऑनलाइन टेस्ट दे सकेंगे। इसको लेकर विभाग की ओर से तैयारी की जा रही है। नए सॉफ्टवेयर में आवेदक ऑनलाइन आवेदन अप्लाई करेंगे। सभी डाक्यूमेंट्स सॉफ्टवेयर पर अपलोड करने व अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद स्वत: कुछ सवाल पूछे जाएंगे। आवेदकों को पूछे गए सवालों का सही जवाब देने के बाद हीं उनका आवेदन स्वीकार हो सकेगा। नये सॉफ्टवेयर में फोटो अपलोड करने की भी सुविधा उपलब्ध होगी। आवेदकों को पूरी तरह से कार्यालय का चक्कर लगाने से छूटकारा मिल जाएगी।

धांधली पर लगेगी रोक :

जिला परिवहन कार्यालय में लर्निग डीएल बनवाने के लिए रोजाना लंबी लाइन होती है, जिनमें से 50 फीसद अभ्यर्थी लिखित परीक्षा में फेल हो जाते हैं। सिफारिश और दलालों के चक्कर में आकर उन्हें फिर पास किया जाता है। टेस्ट ऑनलाइन होने से इस प्रकार की धांधली पर रोक लग जाएगी।

क्या कहते हैं अधिकारी :

नई व्यवस्था के लागू होने से सड़क दुर्घटनाओं में तो कमी आएगी हीं। साथ हीं साथ ट्रैफिक नियमों से वाहन चालक पूरी तरह से अवगत रहेंगे। जिस आवेदनकर्ता को ट्रैफिक नियमों की जानकारी नहीं होगी वह टेस्ट पास नहीं कर पाएगा।

कृष्णमोहन प्रसाद, जिला परिवहन पदाधिकारी, सिवान

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

NCC क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में नरहट ने हरदिया को हराया, डीएसपी विद्यासागर ने खिलाड़ियों को किया पुरस्कृत

अमित/सिवान : नवादा क्रिकेट क्लब द्वारा क्रिकेट टूर्नामेंट का लगातार चौथे साल आयोजन अजीत यादव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: