Breaking News

         

Home / सिवान / सिवान में हाथों में तिरंगा ले CCA और NRC के समर्थन में सड़क पर उतरे लोग, लगे भारत माता की जय के नारे

सिवान में हाथों में तिरंगा ले CCA और NRC के समर्थन में सड़क पर उतरे लोग, लगे भारत माता की जय के नारे

सिवान :  नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के समर्थन में सोमवार को शहर में भारत नव निर्माण समिति के तत्वावधान में कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करते हुए पदयात्रा निकाली। पदयात्रा शहर के गांधी मैदान से शुरू होकर महादेवा रोड होते हुए जेपी चौक, दरबार रोड, बाटा मोड, थाना रोड, बड़ी मस्जिद, शांति वटवृक्ष होते हुए डीएवी मोड़ पर पहुंचकर समाप्त हो गई। इस दौरान कार्यकर्ता अपने हाथों में तिरंगा लेकर भारत माता की जय, वंदे मातरम, जय हिद आदि के नारे लगा रहे थे। साथ हीं स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर एनआरसी और सीएए के समर्थन नारेबाजी कर रहे थे। विधि व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद थी। पदयात्रा के आगे और पीछे पुलिस के वाहन थे। हरेक चौक-चौराहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। पदयात्रा का नेतृत्व भारत नव निर्माण समिति के संयोजक भगवान सिंह कर रहे थे। समिति के बैनर तले दर्जनों सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक व सांस्कृतिक संगठन से जुड़े लोग शामिल हुए।

पदयात्रा के दौरान सदर विधायक व्यासदेव प्रसाद, पूर्व सांसद ओमप्रकाश यादव व दारौंदा विधायक कर्णजीत सिंह उर्फ व्यास सिंह ने संयुक्त रूप से कहा कि एनआरसी और सीएए भारत में रहने वाले किसी भी लोगों के लिए अहितकारी नहीं है। यह कानून अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से आने वाले छह समुदाय के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने की बात करता है। यह कानून किसी की नागरिकता छीनने की बात नहीं करता। उन्होंने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि आखिर एक समुदाय के लोग क्यों इस कानून का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा विपक्षी पार्टियां ऐसे लोगों को वोट बैंक के लिए बरगला रही है और उन्हें गलत जानकारी दे रही है।

नरेंद्र मोदी और अमित शाह को दिया धन्यवाद :

इस दौरान लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद दिया। समर्थन यात्रा को संबोधित करते हुए समर्थकों ने कहा कि यह कानून किसी भारतीय की नागरिकता को छीनने या उसके अधिकार में कटौती करने के लिए नहीं है। मोदी सरकार ने नया कानून बनाकर पीड़ितों को मानवाधिकार देने का पुण्य किया है, इसलिए वह आभार के पात्र हैं।

जगह-जगह थी पुलिस की तैनाती :

शहर में समर्थन यात्रा को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट रहा। एहतियातन चौक -चौराहों पर पुलिस फोर्स की तैनाती की गई थी। इसकी मॉनीटरिग एसडीएम संजीव कुमार, एसडीपीओ जितेंद्र पांडेय, नगर इंस्पेक्टर जयप्रकाश पड़ित, प्रखंड विकास पदाधिकारी रमेंद्र कुमार की अगुवाई में पुलिस शहर में गश्त कर रही थी और समर्थकों को संयमित व अनुशासित रहने की चेतावनी भी दे रहे थे। वहीं गोपालगंज मोड़ पर मुफस्सिल थानाध्यक्ष रामविचार राम पुलिस बल के साथ मुस्तैद दिखे।

यातायात रहा बाधित :

पदयात्रा के दौरान शहर में आने जाने वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इस दौरान गोपालगंज मोड़, पटेल चौक, बबुनिया मोड, पर बैरिकेडिग की गई थी। इससे शहर की सड़क के दोनों किनारे वाहनों की लंबी कतार लगी रही। आने जाने वालों को तैनात पुलिस के जवानों ने दूसरे रास्ते से जाने की सलाह दे रहे थे।

ये रहे पदयात्रा में शामिल :

पदयात्रा में विधान परिषद सदस्य टुन्ना पांडेय, पूर्व विधायक डॉ. देव रंजन, पूर्व विधायक रामायण मांझी, भाजपा नेता देवेश कांत सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय पांडेय, जदयू नेता अजय सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह, प्रो. अभिमन्यु सिंह, रामाकांत पाठक, भाजपा जिला उपाध्यक्ष राहुल तिवारी, समिति के सह संयोजक प्रभात सिंह, भाजपा उपाध्यक्ष योगेंद्र सिंह, प्रांत संपर्क प्रमुख प्रो. रविद्र पाठक, सुनील सिंह, रामकुमार शर्मा, राजीव रंजन पांडेय, मनोरंजन कुमार सिंह, प्रदीप कुमार रोज, भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश कुमार बंटी, नप उप सभापति बब्लू साह, पार्षद रंजना श्रीवास्तव, पूनम गिरि, जयप्रकाश गुप्ता, राजन साह, देवेंद्र गुप्ता, अमित कुमार सोनू, सुधीर जायसवाल, संजय श्रीवास्तव, हिदुत्वेंदु उपाध्याय, आसनारायण सिंह, सुरेंद्र पासवान, मनोज राम, मिथिलेश यादव, प्रभुनाथ यादव, महेश यादव, विजय चौधरी, अभिमन्यु सिंह पटेल, त्रिलोकी सिंह पटेल, राजू कुशवाहा समेत हजारों कार्यकर्ता मौजूद थे।

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

मधुबनी नरसंहार के खिलाफ नौतन में राजपूत समाज संगठन ने निकाला विरोध मार्च

सिवान : मधुबनी नरसंहार को लेकर सिवान में राजपूत समाज संगठन ने गुरुवार को एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: