Breaking News

         

Home / सिवान / सिवान / सीवान के पत्रकारों काे सुरक्षा के लिए डीएम को ज्ञापन, फर्जी मुकदमा को खारीज करने के लिए भी लगाई गुहार

सीवान के पत्रकारों काे सुरक्षा के लिए डीएम को ज्ञापन, फर्जी मुकदमा को खारीज करने के लिए भी लगाई गुहार

सीवान। जिले के एमचनगर थाने के सेमरी गांव में दो अक्टूबर को दरौंदा विधान सभा क्षेत्र के जदयू प्रत्याशी सह सीवान की सांसद कविता सिंह के पति अजय सिंह द्वारा अपने समर्थकों के साथ मिलकर प्रेस क्लब के अध्यक्ष कैलाश कश्यप और उनके पुत्र चंदन कुमार बंटी पर हमला करने व कैमरा छिनने के मामले को लेकर श्रमजीवी पत्रकार यूनियन का शिष्टमंडल शुक्रवार काे डीएम रंजीता व एसपी नवीन चन्द्र झा से मिला। इस दौरान घटना के बारे में डीएम व एसपी काे विस्तृत जानकारी दी गई। दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि इससे पीड़ित पत्रकार समेत अन्य पत्रकार और उनके परिजनों के अंदर दहशत का माहौल हो गया है। यह लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है। इस घटना के बाद पत्रकार काफी दहशत में है।

 

ज्ञापन में कहा गया है कि कैलाश कश्यप और चंदन कुमार बंटी को अपनी जान का खतरा है, इसलिए उन्हें सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की गई। साथ ही सभी पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ठोस कदम उठाने, पत्रकारों को आर्म्स लाइसेंस देने, एमएचनगर थाने में चंदन कुमार बंटी द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर पर करवाई करने तथा मिडिया कर्मी के खिलाफ दर्ज फर्जी मुकदमा को अनुसंधान कर उसे खारिज करने, कैलाश कश्यप और चंदन कुमार की गिरफ्तारी पर तत्काल रोक लगाने की मांग की गई है। डीएम व एसपी ने इस मामले में सार्थक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। ज्ञापन देने वालों में श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष मिथिलेश कुमार सिंह, महासचिव अरविंद कुमार पांडेय, जमाले फारुक, अनीश पुरुषार्थी, मृत्युंजय कुमार, नजरे आलम शामिल थे। इधर, बताते चले कि श्रमजीवी पत्रकार यूनियन व प्रेस क्लब की बैठक में सभी पत्रकारों ने एकजुटता दिखाई थी और इस मामले में डीएम व एसपी से मिलकर ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया था।

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

पटना में बाढ़ पीड़ितों के सहायता के लिए डॉक्टरों की टीम सीवान से हुई रवाना।

A team of doctors left Siwan to assist the flood victims in Patna.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!