शहर के मुख्य मार्ग में बने गड्ढों में गिर कर घायल होते रहे लोग :

बरसात के कारण शहर में जलभराव होने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। शहर के टुनटुन बाबू के पेट्रोल पंप के सामने व आइडीबीआइ बैंक के सामने जल निकासी की व्यवस्था ठप होने और सीवर ओवर फ्लो होने से सड़क तालाब का रूप ले चुकी है, जिससे लोगों को परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है। सड़कों में बने बड़े बड़े गड्ढे पानी से लबालब हैं और लोग इन गड्ढों में गिरकर घायल हो रहे हैं। गुरुवार को भी यही हाल रहा। सुबह दुबे पेट्रोल पंप समीप एक पिकअप वैन पलट गई। हालांकि इसमें किसी के हताहत होने की सूचना नहीं थी। इस महीने अनुमान से ज्यादा हुई बारिश, धान की फसल को बारिश से फायदा

– लगातार हो रही बारिश से किसानों के चेहरे खिले

– धान की फसल के सीकों में बारिश की बूंद से होगा लाभ

02 सौ 40 एमएम इस महीने बारिश की होती है जरूरत

02 सौ 79 एमएम हो चुकी बारिश

धान की फसल को बारिश से फायदा, शहर में पानी भरने से परेशानी

जासं, सिवान: जिले के किसानों के चेहरे पर मुस्कान है। लगातार हो रही बरसात से किसानों के चेहरे खिल गए हैं। धान की फसल के सीकों में बरसात की बूंदें जाने से फसल की वृद्धि बहुत ही तेजी से हो रही है। लंबे समय बाद इस बार इस तरह की बरसात का नजारा किसानों को देखने को मिल रहा है। गौर करने वाली बात है कि इस महीने 240 एमएम बारिश की जरूरत होती है, लेकिन शुरू में तो मौसम ने बेरुखी दिखाई। इन दिनों जिस प्रकार से बारिश का सिलसिला चल रहा है। इससे अनुमान से ज्यादा बारिश हो चुकी है। गुरुवार की सुबह तक 278.99 एमएम बारिश रिकार्ड किया गया था। बुधवार की रात से गुरुवार को भी पूरे दिन बारिश होती रही। इसे जुड़ने पर 300 एमएम का भी आंकड़ा पर होने की उम्मीद है। विभाग के वैज्ञानिकों की माने तो बरसात आगे भी चलेगा

आगे बढ़ रही है नमी वाली हवाएं :

मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के अनुसार चक्रवाती हवाओं का मौसम बना हुआ है। इस तरह की गतिविधियों के कारण नमी वाली हवाएं आगे बढ़ रही हैं। मौसम की स्थिति अगले कुछ दिनों तक बनी रहेगी।

कहते हैं किसान :

किसान सत्यदेव सिंह , राजू सिंह, संतोष  सिंह, रामानुज, सोमपाल, पुरुषोत्तम, पंकज कुमार आदि ने बताया कि बारिश से धान की फसल को फायदा पहुंचा है। किसानों को गर्मी और बिना बरसात के जहां अपनी धान की फसल के लिए पानी की समस्या आए दिन हो रही थी। इस बारिश में किसानों को काफी लाभ हुआ है। वहीं इस बरसात से किसानों के अन्य फसलों को भी फायदा पहुंचेगा।