Breaking News

         

Home / क्षेत्रीय / भोजपुरी सर्किट के सासंद एक साथ हुए इक्कठा, और लिया ये संकल्प

भोजपुरी सर्किट के सासंद एक साथ हुए इक्कठा, और लिया ये संकल्प

नईदिल्ली: भोजपुरी भाषा की पीड़ा को कहने सुनने के लिए देश की राजधानी में भोजपुरी सर्किट के सासंदो ने भोजपुरी सम्मेलन में मन की बात को साझा किया।विश्व भोजपुरी सम्मेलन संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजीत दुबे ने अपनी पीड़ा बयान करते हुए कहा कि जहाँ नेपाल और माॅरीशस जैसे देशों मे भोजपुरी भाषा को मान्यता प्राप्त है वहीं अपने ही देश भारत मे भोजपुरी बरसों से अपने वाजिब हक़ के इंतज़ार में है।

भोजपुरी को आठवीं अनुसूची मे शामिल करने के लिए पिछले कई बरसों से भोजपुरी जनमानस एवं विभिन्न संस्थाएँ प्रयासरत हैं।14 वीं लोकसभा से लेकर 15 वीं,एवं 16 वीं लोकसभा के सदस्यों का भी अभिनंदन हमारी संस्था द्वारा पिछले वर्षों किया गया था,परन्तु आज इस प्रांगण में मौजूदा 17 वीं लोकसभा सदस्यों की उपस्थिति देखकर हमलोग बहुत उत्साहित एवं आशान्वित है।हम‌ सभी चाहते है कि पुर्वांचल से चुनकर आने वाले प्रधानमंत्री महोदय, पूर्वांचल के भाषाई अस्मिता को सुदृढ़ करे और उसे आठवीं अनुसूची में अविलंब प्रतिष्ठित करे।

सासंद जगदम्बिका पाल ने कहा कि 13वीं से 16वीं लोकसभा कार्यकाल में भोजपुरी को उसका हक नहीं मिल‌ पाने की दुबे जी की चिंता जायज है लेकिन अब और देर नहीं होगी और हम सब मिलकर सामुहिक प्रयास करेंगे।यह एतिहासिक क्षण है जब भोजपुरी के नाम‌ पर इतने सासंदो का समूह एक साथ इक्कठा हुआ है ।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस मौक़े पर कहा कि भोजपुरी की देश के बाहर भी अमिट छाप है एवं हम सबको अपने समृद्ध साहित्य को और समृद्ध बनाने की दिशा में लगातार काम करने की ज़रूरत है।

आर के सिन्हा ने कहा कि भोजपुरी को मान्यता मिलने से देश की प्रतिष्ठित प्रतियोगिताओं में भी इसका लाभ पुर्वांचल के छात्र-छात्राओं को मिलेगा। अजीत दुबे के अनुरोध के बारे में उन्होंने कहा कि वे निकट भविष्य में हिंदुस्तान समाचार समूह के किसी पत्रिका के भोजपुरी संस्करण के प्रकाशित करने की सहर्ष घोषणा करते हैं।

सांसद रवि किशन ने कहा कि आजतक मेरी जो भी पहचान है वह केवल भोजपुरी की वजह से है और भोजपुरी मेरे माँ की भाषा है। इसके सम्मान के लिए मै हरसंभव प्रयास करूँगा।

राजस्थानी भाषा आन्दोलन के केन्द्र बिन्दु माने जाने वाले केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि मान्यता संबंधित लगभग सारी बाधाएँ दूर कर ली गयी है। एक बार सामूहिक तौर पर और प्रयास करना है। फिर हमारा काम‌ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि मातृभाषाओं का संरक्षण करना बहुत जरुरी है।हमारा संविधान हमें यह मौलिक अधिकार देता है कि हम‌ सब की प्राथमिक शिक्षा अपने अपने मातृभाषा में हो। मै यह उम्मीद कर रहा हूँ कि बहुत जल्द भोजपुरी, राजस्थानी और भोटी संविधान की आठवी अनुसूचि मे शामिल होगी।

केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे जी ने भोजपुरी भाषा के सम्मान हेतु संकल्प को दोहराते हुए भोजपुरी भाषा को अश्लीलता से मुक्त किए जाने की आवश्यकता पर बल दिया।

इस मौके पर जनार्दन सिंह सिग्रिवाल ने कहा कि अगली लोकसभा में भोजपुरिया सांसद भोजपुरी में शपथ ले पाएँगे,इसका हम‌ विश्वास दिलाते हैं। इसके साथ साथ भोजपुरी प्रेमी सभी सासंदो ने एक‌साथ भोजपुरी भाषा की अस्मिता को बचाने और उसके अधिकार को दिलाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई।

विश्व भोजपुरी सम्मेलन संस्था एवं भोजपुरी समाज दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में भोजपुरी भाषी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने‌ वाले एवं भोजपुरी प्रेमी सासंदो के सम्मान में अभिनंदन समारोह का आयोजन सफदरजंग स्थित भारतीय विमान पतन प्राधिकरण अधिकारी संस्थान के सम्मेलन कक्ष में किया गया।

इस मौके पर केन्द्रीय मन्त्री अश्विनी कुमार चौबे, अर्जुनराम मेघवाल,सांसद आर के सिन्हा,दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी,श्री वीरेन्द्र सिंह मस्त, जगदम्बिका पाल, रवि किशन, हरीश द्विवेदी, संगम लाल गुप्ता, पकौड़ी लाल, छेदी पासवान, प्रवीण निषाद, सुब्रत पाठक, कृपा लाल मल्लाह, कमलेश पासवान, जनार्दन सिंह सिग्रिवाल, अर्जुन सिंह, पंकज चौधरी आदि सासंदो को सम्मानित किया गया।

इस मौके पर विश्व भोजपुरी सम्मेलन संस्था के राष्ट्रीय महामंत्री डॉक्टर अशोक सिंह,दिल्ली इकाई के अध्यक्ष विनयमणि त्रिपाठी,सचिव डॉक्टर मनीष चौधरी,अन्य पदाधिकारी जलज कुमार अनुपम एवं दिल्ली में रहने वाले बड़ी तादाद में भोजपुरी माटी के प्रशासनिक अधिकारी,सेना के अधिकारी, प्रोफ़ेसर,अधिवक्ता,पत्रकार उपस्थित थे।

Facebook Comments

About Lav pratap

Check Also

जीरादेई में राजद कार्यकर्ताओं ने डीजल-पेट्रोल के दामों में बढ़ोतरी के विरोध में निकाली साइकिल रैली।

सीवान :  सूबे सहित पूरे देश में बढ़ती महंगाई एवं पेट्रोल-डीजल के कीमतों में हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: