Breaking News

रालोसपा के जिला महासचिव के घर पर फिर हुई फायरिंग, बच्ची घायल                   

Home / उत्तर प्रदेश / गोरखपुर में महाकुम्भ के बाद प्रयागराज जा सकते हैं पूर्वांचल रत्न,संतों में है काफी उत्साह

गोरखपुर में महाकुम्भ के बाद प्रयागराज जा सकते हैं पूर्वांचल रत्न,संतों में है काफी उत्साह

पूर्वांचल रत्न डॉ धनेश मणि त्रिपाठी आजकल अपने गृह जनपद में हैं | वे आजकल गोरखपुर की जनता को भरपूर समय दे रहे हैं | इस बीच अपने सारे दौरों को रद्द कर पूर्वांचल रत्न अपने विभिन्न कार्यक्रमों की समीक्षा व आगे की रणनीति बना रहे हैं | विदित हो डॉ धनेश मणि त्रिपाठी ने ज्योतिष व धर्म को एक मंच पर लाकर ज्योतिष महाकुम्भ का आयोजन किया था | पूर्वांचल रत्न ने ज्योतिष व धर्म के समावेश के रूप में अमेरिका,चीन,ईरान,ऑस्ट्रेलिया,रूस,मारीशस,मलेशिया, जर्मनी इत्यादि देशों के धर्म के साथ ज्योतिष जगत के विद्वानों का महाकुम्भ कराया |

वो आज के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल में अन्तर्राष्ट्रीय ज्योतिष धर्म सम्मेलन नाम से दर्ज हो गया हैं | इसी आयोजन के समाप्त होने के बाद पूर्वांचल रत्न डॉ धनेश मणि त्रिपाठी से मिलने वालों की श्रृंखला लगातार जारी हैं | ज्योतिष जगत का बड़ा नाम होने के बावजूद इस सम्मेलन के बाद पूर्वांचल रत्न का धर्म जगत में कद काफी बढ़ गया हैं | सूत्रों की माने विविध सम्प्रदायों के संतों ने पूर्वांचल रत्न को बुलावा भेजा हैं | धर्मविरोधियों पर अपनी बेबाक राय रखने वाले पूर्वांचल रत्न प्रयागराज में कभी भी शिरकत कर सकते हैं |

ज्ञात हो शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने राम मंदिर पर बड़ा ऐलान किया हैं | ज्योतिषधर्मगुरु डॉ धनेश ने इसी राम मंदिर विषय पर बाबर के वंशज प्रिंस याकुब हबीबुद्दीन तुसी को गोरखपुर लाया था |

पूर्वांचल रत्न की एक खास बात हैं कि वे किसी भी मुद्दे पर हवा वाली बयानबाजी नहीं करते | वे हर विषय की जड़ को पकड़ते हैं,उसके अनुसार वे कार्य करते हैं | इसलिए देश-विदेश में उनकी अच्छी सफलता हैं व अच्छा प्रभाव हैं | पूर्वांचल रत्न ने इस विषय को छूते ही बाबर के वंशज प्रिंस याकूब को हैदराबाद से सीधा गोरखपुर लाया था | अपने आवास पर प्रिंस याकूब व डॉ धनेश मणि की द्विपक्षीय वार्ता के बाद प्रिंस याकूब ने गोरखपुर की धरती से डॉ धनेश का सम्मान करते हुए राम मदिर का समर्थन किया था |

इसके साथ ही राम मंदिर के निर्माण के लिए सोने की ईट देने की बात कही थी | पूर्वांचल रत्न ने इसके बाद राम मंदिर पर हस्ताक्षर अभियान निकाला था तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी | राम मंदिर के विषय पर वे लगातार लगे हुए हैं,जो उनके अन्तर्राष्ट्रीय धर्म सम्मेलन का भी मुख्य विषय था |

इसी बीच शंकराचार्य स्वरूपानंद का ऐलान व पूर्वांचल रत्न का संभावित प्रयागराज दौरा कुम्भ में नया मोड़ ला सकता हैं | क्योंकि जनता के बीच नम्रता व मैदाने जंग में आक्रामक छवि पूर्वांचल रत्न डॉ धनेश मणि त्रिपाठी का खास गुण हैं,जिसके फलस्वरूप धर्मविरोधीयों की नीद उड़ी रहती हैं व धर्म जगत उत्साहित व प्रेरित होता हैं |

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

सऊदी अरब से रिश्तेदार का आना पड़ा भारी परिवार के 5 लोगों की सड़क हादसे में मौत

आज सुबह इलाहबाद के नवाबगंज इलाके में भीषण सड़क हादसा हुआ. सऊदी अरब से आ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!