Breaking News

रालोसपा के जिला महासचिव के घर पर फिर हुई फायरिंग, बच्ची घायल                   

Home / सिवान / सिवान / सांसद पुत्र हैप्पी यादव ने मुरली पांडे की ह#त्या के मामले में थाना अध्यक्ष को क्यों बताया दोषी?

सांसद पुत्र हैप्पी यादव ने मुरली पांडे की ह#त्या के मामले में थाना अध्यक्ष को क्यों बताया दोषी?

रोते बिलखते मुरली पांडे के परिजन

सांसद पुत्र सह भाजपा नेता हैप्पी यादव ने मुरली पांडेय हत्याकांड में दरौली थानाध्यक्ष को दोषी बताया है। श्री यादव मृतक के परिजनों से मिलने सदर अस्पताल पहुँचे थे जहां उन्होंने कहां की इस मामले में बल्कि कई अन्य जमीनी विवाद के मामलों में स्थानीय थाना और सीओ की लापरवाही साफ देखने को मिल रही है। इस मामले में भी पुलिस ने कार्यवाई किया होता तो मुरली पांडेय की हत्या नही हुई होती और इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और दोषी पुलिस पदाधिकारी को भी दंडित करना चाहिए।

जिले में लगातार जमीनी विवाद में लोगों की हत्या हो रही है। आये दिन जमीनी विवाद में खूनी संघर्ष तो कही भाई-भाई की हत्या कर रहा है तो कहीं भतीजा चाचा की!

इसी जमीन पर घर बनाने को लेकर चल रहा था विवाद

क्या है पूरा मामला

आज गुरुवार को जिले के दरौली प्रखंड के नेपूरा गांव में भी एक भतीजे ने अपने चाचा मुरली पांडे की हत्या गोली मार के कर दी। इस मामले में भी हत्या की वजह बन जमीन का विवाद दरअसल सनोज पांडेय एक विवादित जमीन पर अपना घर बना रहा था जिसको लेकर दोनों के के बीच कई दिनों से विवाद चल रहा था।

एएसपी ने मौके पर पहुंचकर किया जांच

अब सवाल ये है कि दोषी थाना प्रभारी कैसे?

ये जमीनी विवाद का मामला पुलिस तक भी पहुंच था जिसमे पंचायत भी बुलाई गई जिसमें थाना प्रभारी भी शामिल हुए थे। परिजनों का कहना है कि सनोज ने थाना प्रभारी के सामने गोली मारने की धमकी मुरली पांडेय को दिया था। जिसके बाद भी पुलिस ने हत्यारोपीत सनोज पांडेय के खिलाफ कोई कारवाई नही की।

परिजनों ने भी थानाध्यक्ष को बताया दोषी।

हत्या की हत्या के बाद मृतक मुरली पांडेय के परिवार ने इस मामले में पुलिस को दोषी बताया।

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

Google ने TikTok App को भारत में किया ब्लॉक, अब नहीं कर पाएंगे डाउनलोड, कोर्ट ने दिया था आदेश

गूगल ने मद्रास हाईकोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए भारत में बेहद लोकप्रिय वीडियो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!