Breaking News

         

Home / सिवान / राजदेव रंजन हत्याकांड में शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ीं, 16 को तय होंगे आरोप

राजदेव रंजन हत्याकांड में शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ीं, 16 को तय होंगे आरोप

सिवान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड के मुख्य आरोपित पूर्व सांसद शहाबुद्दीन व अन्य आरोपितों के खिलाफ 16 नवंबर को आरोप तय किए जाएंगे। मुजफ्फरपुर के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश-नवम् विरेंद्र कुमार के कोर्ट में बुधवार को इस मामले की सुनवाई के बाद यह तारीख तय की गई है। अपने विशेष लोक अभियोजक के उपस्थित नहीं रहने पर सीबीआइ अधिकारी ने इसके लिए समय की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया।

इससे पहले तिहाड़ जेल में बंद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी कराई गई। वहीं, भागलपुर जेल के वीडियो कांफ्रेंसिंग सिस्टम में तकनीकी खराबी के कारण आरोपित अजहरूद्दीन बेग उर्फ लड्डन मियां की पेशी नहीं कराई जा सकी। मुजफ्फरपुर जेल में बंद अन्य छह आरोपितों की कोर्ट में पेशी कराई गई।

सीबीआइ ने दाखिल की थी चार्जशीट

इस मामले में पूर्व सांसद सहित अन्य आरोपितों के विरुद्ध सीबीआइ ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी। विशेष सीबीआइ कोर्ट ने चार्जशीट को संज्ञान में लेकर सेशन ट्रायल चलाने के लिए जिला जज के कोर्ट में भेजा था। जिला जज के कोर्ट ने इसकी सुनवाई के लिए एडीजे-9 के कोर्ट में भेजा था। आरोपितों के खिलाफ आरोप तय किए जाने की प्रक्रिया चल रही थी। इसी बीच इस मामले को पटना में माननीयों के मामले की सुनवाई के लिए गठित विशेष न्यायालय में सुनवाई के लिए भेजा गया था। पांच माह बाद पिछले महीने इस मामले को वहां से वापस कर दिया गया था।

यह है घटना

13 मई 2016 की शाम सिवान में पत्रकार राजदेव रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस के बाद इस मामले की जांच सीबीआइ को सौंपी गई थी। सीबीआइ ने पूर्व सांसद शहाबुद्दीन सहित अन्य को आरोपित बनाते हुए चार्जशीट दाखिल किया।

लड्डन मियां के अधिवक्ता शरद सिन्हा ने कहा कि तकनीकी खराबी के कारण लड्डन मियां की वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी नहीं कराई जा सकी है। कोर्ट ने आरोप तय करने को लेकर 16 नवंबर की तारीख तय कर दी है। उस दिन कोर्ट को इससे अवगत कराएंगे।

शहाबुद्दीन के अधिवक्ता दिलीप कुमार सिंह ने कहा कि कोर्ट ने 16 नवंबर को आरोप तय करने को लेकर अगली तारीख तय कर दी है। वे पटना से लौटने के बाद मामले से संबंधित फाइलों का अध्ययन कर रहे हैं। इसके बाद आगे की कानूनी प्रक्रिया अपनायी जाएगी।

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

शिक्षक सहायता कोष को लेकर शिक्षकों में जबरदस्त उत्साह, रोज जुड़ रहे नए सदस्य

अमित यादव : सिवान के गांधी मैदान से पिछले 2 अक्टूबर को आगाज की गई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!