Breaking News

         

Home / भारत / सबसे बड़ा खुलासा: सामने आया युवक जिसने बताया विवेक तिवारी की हत्या का सच-थी 5 हजार रुपए की बात

सबसे बड़ा खुलासा: सामने आया युवक जिसने बताया विवेक तिवारी की हत्या का सच-थी 5 हजार रुपए की बात

लखनऊ के बहुचर्चित एपल मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड केस में जेल गया बर्खास्त सिपाही प्रशांत चौधरी रात में गश्त के दौरान लोगों को डरा धमकाकर उनसे वसूली करता था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 28 अगस्त की रात बीएसएनल का एक इंजीनियर भी उसका टारगेट बना था।

प्रशांत ने थाने ले जाकर उससे 5 हजार रुपए वसूले थे। आरोप है कि डिमांड पूरी न करने पर इंजीनियर को गांजा बेचने के केस में जेल भेजने की धमकी तक दी थी। बताया जा रहा है कि इंजीनियर अब आरोपी सिपाही के खिलाफ कोर्ट में गवाही देने की तैयारी में है। इंदिरानगर की लक्ष्मणपुरी कॉलोनी निवासी कार्तिक बीएसएनएल में इंजिनियर हैं। उनके मुताबिक, 28 अगस्त की रात करीब 10 बजे वो अपने दोस्त के साथ जनेश्वर मिश्र पार्क की ओर से घर लौट रहे थे। पार्क के पास ही एक पान की गुमटी पर रुककर वो सिगरेट पीने लगे। तभी अपाचे से दो सिपाही आए और उनकी तलाशी लेने लगे। इसके बाद एक सिपाही उनका पर्स लेकर दूर चला गया और फिर गांजे की पुड़िया दिखाकर उन्हें पीटना शुरू कर दिया। फिर पुलिसवाले 10 हजार रुपए डिमांड करने लगे। नहीं देने पर थाने ले जाकर पिटाई की।

पीड़ित की मानें, तो थाने में प्रशांत की पत्नी कॉन्स्टेबल राखी मलिक भी मौजूद थी। आरोप है कि गांजा बेचने का केस बनाकर लॉकअप में डालने की धमकी दी थी। जिसके बाद एक दोस्त से पैसे मंगवाकर पुलिसवालों को दिया, तब जाकर उन्हें छोड़ा गया। कार्तिक ने बताया, विवेक तिवारी कांड के वक्त वो हरिद्वार में थे। उन्होंने न्यूज चैनल्स और अखबार में प्रशांत की फोटो देखकर पहचाना। उनका कहना है कि वो राहगीरों से अवैध वसूली करने वाले प्रशांत के खिलाफ कोर्ट में गवाही देंगे। ऐसे में अवैध वसूली के चक्कर में विवेक की जान लेने की आशंका जताई जा रही है।

इससे पहले एक निजी कॉलेज के टीचर ने आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत पर विवेक तिवारी हत्याकांड वाली रात धमकाकर तीन हजार वसूलने का आरोप लगाया था। टीचर के मुताबिक, मकदूमपुर चौकी के पास जहां 28 सितंबर की देर रात विवेक को कॉन्स्टेबल प्रशांत ने गोली मारी थी, उससे करीब 150 मीटर की दूरी पर एक पान की गुमटी से उन्होंने सिगरेट ली थी। जिसके कुछ ही देर बाद अपाचे से आए दो पुलिसवालों (उनमें से एक प्रशांत था) ने धमकाते हुए उनसे 10 हजार रु. मांगे थे। बाद में तीन हजार रु. वसूलने के बाद उन्हें छोड़ा था।

Facebook Comments

About Lav pratap

Check Also

मोहन भागवत के बाद अब बोले CM योगी, कहा- भव्य राम मंदिर निर्माण की करें तैयारी

संघ प्रमुख मोहन भागवत के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री Yogi Adityanath ने राम मंदिर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!