Breaking News

         

Home / सिवान / गुठनी / सावा की अच्छी खेती से किसानों के चेहरे पर खुशी, धान से ज्यादे कीमत पर बाजार मे बिकता है सावा

सावा की अच्छी खेती से किसानों के चेहरे पर खुशी, धान से ज्यादे कीमत पर बाजार मे बिकता है सावा

जिले के गुठनी थाना क्षेत्र के कई गाँवो में इस बार सावा की अच्छी पैदावार से किसान काफी खुश है। सावा की खेती के लिए इस बार अनुकूल मौसम होने की वजह से बिना किसी रोग लगे आसानी से फसल तैयार हो गई है। बलुआ, खड़ौली, तीरबलुआ, केलहरुआ, डरैला, मियागुंडी, बाजिदही, कुरमौली, सोहगरा, सोनहुला, कुड़ेसर सहित कई गांवों में इस साल किसानों ने पहली बार खेती की है। किसानों का कहना है कि सावा की खेती में कम समय का लगना, कम पूंजी लगना, कोई भी बीमारी नहीं लगने से इसे उपजाने में काफी सहूलियत होती है। सावा की खेती इस मायने में भी महत्वपूर्ण है कि बाजार में भी अच्छी कीमत मिल जाती है। सावा का चावल 100 रुपये से लेकर 120 रुपये तक मिलता है।.

कृषि विभाग की तरफ से मिलेगा अनुदान : सावा की खेती को देखते हुए प्रखंड कृषि मुख्यालय ने कई गांवों में जाकर इसकी खेती को देखा। टीम ने सावा की खेती को देखते हुए पाया कि इस फसल में लागत कम और फायदा ज्यादा है। कृषि विभाग की टीम ने सावा की खेती करने के लिए किसानों को बीज अनुदान के साथ देने का फैसला किया है।.

अभी सरकार की तरफ से कोई विशेष व्यवस्था नहीं है। कृषि विभाग में जब भी इस तरह की कोई योजना आएगी तो हम प्रखंड के किसानों को जरूर उपलब्ध करा देंगे। .

-रामसेवक सिंह, बीएओ .

किसानों का कहना है कि धान की खेती की अपेक्षा इस खेती में पूंजी कम लग रही है। धान की खेती में नहर व बोरिंग के नहीं रहने से सिंचाई करना काफी मुश्किल है। जबकि सावा की खेती के लिए किसी भी संसाधन की जरूरत नहीं पड़ती। अलग से कोई मेहनत व पूंजी भी नहीं लगानी पड़ती है। किसान सत्येन्द्र नारायण सिंह, अरविंद सिंह, अतुल सिंह, अभय सिंह, ददन तिवारी, डब्ल्यू तिवारी ने बताया कि इसको अरहर व मक्के की खेती के साथ कर देने से कोई अतिरिक्त मेहनत नहीं लगती। .

Facebook Comments
siwan news

About admin

Check Also

एससी एसटी बिल के खिलाफ सवर्ण मोर्चा ने किया सड़क जाम

केंद्र सरकार के द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ अध्यादेश लाने की घोषणा को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!