Breaking News

         

Home / बिहार / गोपालगंज / गोपालगंज में डॉक्टर के घर हुई डकैती में अंतरजिला गैंग के 10 सदस्यों को एसआइटी ने किया गिरफ्तार

गोपालगंज में डॉक्टर के घर हुई डकैती में अंतरजिला गैंग के 10 सदस्यों को एसआइटी ने किया गिरफ्तार

गोपालगंज शहर में डॉक्टर अलोक कुमार सुमन के यहां हुई डकैती कांड में एसआइटी ने दस डकैतों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए डकैतों ने अब तक बिहार, यूपी और झारखंड के कई जगहों पर डकैती की घटनाओं को अंजाम दिया है। इनसे पूछताछ के बाद बुधवार को हाजीपुर में हुए प्रेस वार्ता कर इसका खुलासा किया गया। पुलिस के द्वारा बनाई गई राज्य स्तरीय एसआइटी की टीम ने 9 डकैतों एवं सिवान के एक ज्वेलर्स को गिरफ्तार किया है।

एसआईटी ने बताया कि सिवान के ज्वेलर्स द्वारा डकैतों को एडवांस के रूप में 11 लाख रुपया दिया गया था। जिसके बाद डकैतों ने डॉक्टर के घर से लूटी गई सभी ज्वेलरी सिवान जिले के भगवानपुर हाट कौड़िया गांव निवासी विजय सोनी को दी थी। जिसमें सोना को गला कर उसने बिस्कुट बना दिया। डायमंड को कोलकाता के एक बड़े व्यवसाई के हाथ बेच दिया गया था। एसआईटी से मिली जानकारी के अनुसार डॉक्टर आलोक कुमार का पिस्टल पटना के चंपापुर से अंकेश कुमार सिंह के पास से बरामद कर लिया गया है। अन्य सामग्री के बरामदगी के लिए टीम जगह-जगह छापेमारी कर रही है। वहीं अन्य ज्वेलरी भी बरामद करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। पकड़े गए सभी सदस्य पूरी तरह से इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने में एक्सपर्ट हैं। गिरोह के सदस्यों ने गोपालगंज, सीवान, हाजीपुर, मुजफ्फरपुर, पटना, मोकामा, बख्तियारपुर तथा रांची एवं यूपी के भी कई शहरों में लूट की घटना को अंजाम दिया है।

बताया जाता है की डकैत एक सप्ताह से थावे के लॉज में शरण ले रखे थे। वे रोज रेकी करने के लिए डॉक्टर के क्लिनिक में आते तथा मरीज बनकर अपना इलाज कराते। रोज नया- नया चेहरा डॉक्टर के पास मरीज बनकर आता और रेकी कर जाता। थावे में शरण लिए डकैतों ने दो दिनों पूर्व चार जून को भी डॉक्टर के घर पर धावा बोला था। लेकिन बांस की बनी सीढ़ी टूट जाने के कारण उनके मनसूबे पर पानी फिर गया था। डकैत एक सप्ताह से रोज आते आते उनके पालतू कुत्ते को भी अपना मुरीद बना लिया था। वे मात्र सहला देते और कुत्ता उनके पीछे-पीछे दूम हिलाने लगता। लेकिन इस पर कभी भी डॉक्टर बंधुओं की नजर नही पड़ी थी। डॉक्टर के घर लगभग 26 लाख के डायमंड लूटी गई थी। जिसे कोलकाता में बेचे जाने की बात भी समाने आई है। उसके बरामदगी के

लिए एसआईटी जल्द ही कोलकोता जाएगी।

इनकी-इनकी हुई गिरफ्तारी

1. अंकेश कुमार, सिमरी बख्तियार पुर, समस्तीपुर

2. भूपेन्द्र कुमार, बाढ़, पटना

3. सौरव कुमार, बाढ़, पटना

4. शशी कुमार, शाहपुर, पटना

5. राजू रंजन, गोपालपुर, पटना

6. पिन्टू उर्फ पुरुषोतम कुमार, गोपालपुर, पटना

7. सोनू कुमार, अथमल गोला, पटना

8. शैलेन्द्र सिंह, गौरी चक, पटना

9. सुबोध कुमार, विधापति नगर, समस्तीपुर

10. विजय सोनी, कौड़िया भगवान पुर हाट, सिवान

Facebook Comments

About Lav pratap

Check Also

बिहार: जनसाधारण एक्सप्रेस ट्रेन की चार बोगियां पटरी से उतरीं, मची अफरातफरी

आनंद बिहार जा रही जनसाधारण एक्सप्रेस ट्रेन के चार बोगी दानापुर स्टेशन के सेन्ट्रल केबिन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!