Breaking News

         

Home / बिहार / गोपालगंज / भूमि विवाद में हुआ भारी बवाल, मौके पर महिला की…

भूमि विवाद में हुआ भारी बवाल, मौके पर महिला की…

गोपालगंज। भोरे थाना क्षेत्र के भगवापुर गांव में भूमि विवाद को लेकर रविवार की रात हुई फाय¨रग में गोली लगने से घायल महिला की मौत के बाद ग्रामीणों को आक्रोश फूट पड़ा। पोस्टमार्टम के बाद मृतका का शव गांव पहुंचने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने शव को भोरे-मीरगंज पथ पर रख कर जाम कर दिया। इस दौरान सड़क पर आगजनी कर ग्रामीण जमकर बवाल करते रहे। इस बीच घटना के बाद भगवापुर गांव पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से खोखा बरामद किया है। पुलिस एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ कर रही है। महिला की मौत से गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस वहां कैंप कर रही है।

रविवार की देर शाम जमीन पर कब्जा करने की नीयत से अचानक करीब डेढ़ दर्जन लोग भगवानपुर गांव पहुंच गए। हथियार से लैस लोगों ने रामचंद्र राजभर की बथान में स्थित एक पलानी में आग लगा दी। उसके बाद वे उनके घर घुस कर मारपीट करने लगे। अचानक हुए इस हमले से पूरे गांव में अफरा तफरी मच गई। गांव के लोग हमलावरों को खदेड़ने के लिए जमा होने लगे। इसी बीच ग्रामीणों को करीब आते देख हमलावरों ने फाय¨रग शुरू कर दी। फाय¨रग करते हुए हमलावर रामचंद्र राजभर के छोटे पुत्र राकेश राजभर को घर से उसकी हत्या करने की नीयत से लेकर जाने लगे।

 

तभी राकेश को लेकर जाते देख उसकी मांग कृष्णावती देवी हमलावरों से उलझ गईं तथा राकेश को उनके चुंगल से छुड़ा लिया। बताया जाता है कि कृष्णावती देवी की हिम्मत को देख ग्रामीण भी हमलावरों की ओर बढ़ने लगे। तभी हमलावरों ने कृष्णावती देवी को गोली मार दी। गोली मारने के बाद हमलावर कृष्णावती देवी को भी उठा कर ले जाने का प्रयास करने लगे। लेकिन ग्रामीणों के विरोध के कारण हमलावर वहां से भाग निकले। बताया जाता है हमलावरों के हमले में पांच और लोग भी घायल हो गए। हमलावरों के भाग जाने के बाद गोली लगने से घायल कृष्णावती देवी तथा अन्य घायलों को इलाज के लिए रेफरल अस्पताल भोरे लग जाया गया। जहां घायल महिला की हालत नाजुक देख चिकित्सकों ने उन्हें सदर अस्पताल रेफर कर दिया। सदर अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही कृष्णावती देवी की मौत हो गई। सोमवार का पोस्टमार्टम के बाद मृतका का शव गांव पहुंचते ही ग्रामीणों का आक्रोश फूट पड़ा। आक्रोशित ग्रामीणों ने भोरे-मीरगंज पथ पर मृतका का शव रख कर सड़क जाम कर दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि हमलावार खुले आम घूम रहे हैं। पुलिस उनका गिरफ्तार नहीं कर रही है। समाचार लिखे जाने तक ग्रामीण मांग पर डटे थे। पुलिस उन्हें समझाने में जुटी थी।

 

जमीन पर पूर्व में भी हो चुका है कब्जे का प्रयास

भोरे : जिस जमीन के लिए कृष्णावती देवी की जान चली गई, उसी जमीन पर कब्जा करने के लिए अपराधी पांच जुलाई को भी पहुंचे थे। तब अपराधियों को देख ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी थी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देखते ही अपराधी वहां से फरार हो गए थे। इस दौरान पुलिस ने एक व्यक्ति का पीछा कर उसे पकड़ लिया था। जिसकी पहचान फुलवरिया थाना क्षेत्र के मदरवानी निवासी नंदजी चौधरी के रूप में की गई थी। पुलिस ने उसके पास से नौ ¨जदा कारतूस व एक मारुति वैन भी बरामद किया था। इस मामले को लेकर एएसआइ संजय कुमार ¨सह के बयान पर कांड संख्या 220/18 दर्ज की गई। फिलहाल इस यह मामला अनुसंधान में है।

Facebook Comments

About Ankesh Kumar

Check Also

गोपालगंज में डॉक्टर के घर हुई डकैती में अंतरजिला गैंग के 10 सदस्यों को एसआइटी ने किया गिरफ्तार

गोपालगंज शहर में डॉक्टर अलोक कुमार सुमन के यहां हुई डकैती कांड में एसआइटी ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!