Breaking News

         

Home / बिहार / किडनी देकर बहन ने बचाई भाई की जान

किडनी देकर बहन ने बचाई भाई की जान

दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण खराब हो रही किडनी 1इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान के अपर अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल का कहना है कि दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण लोगों की किडनी खराब हो रही है। इसके अलावा खेतों में हो रहे रसायनिक खादों का उपयोग भी किडनी के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। डॉ. मंडल का कहना है कि फसलों पर हो रहे कीटनाशक के अत्यधिक उपयोग से भी किडनी खराब हो रही है।

आइजीआइएमएस में हुआ 19वां किडनी सफल प्रत्यारोपण, बेतिया के लौरिया का रहने वाला है 22 वर्षीय मरीज जयंत

Click here to enlarge image पटना : मंगलवार को राजधानी के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आइजीआइएमएस) में 19वां सफल किडनी प्रत्यारोपण किया गया। संस्थान में अब तक हुए प्रत्यारोपण में पहली बार बहन ने भाई को किडनी देकर उसे जीवनदान दिया है। 22 वर्षीय बेतिया के लौरिया निवासी जयंत राणा की एक साल पहले किडनी खराब हो गई थी। पिछले वर्ष 16 जनवरी को वह लौरिया से इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में इलाज कराने आया था। यहां पता चला कि उसकी किडनी खराब हो गई है। जयंत के पिता सुरेंद्र सिंह ने अपनी किडनी देने का निर्णय लिया है। अस्पताल में उनकी जांच-पड़ताल की गई तो, उनकी किडनी प्रत्यारोपण के योग्य नहीं पाई गई। फिर जयंत की बहन मेनका देवी किडनी दान के लिए राजी हुई। मंगलवार को किडनी प्रत्यारोपण करने का निर्णय लिया गया। किडनी प्रत्यारोपण संस्थान के छह डॉक्टरों की टीम ने किया। इस टीम में डॉ. नीतेश कुमार, डॉ. एहसान अहमद, डॉ. रोहित उपाध्याय, डॉ. अमरेश कृष्णा, डॉ. प्रीतपाल एवं डॉ. हर्षवर्धन ने किया। मंगलवार को संस्थान में 19वां किडनी प्रत्यारोपण किया गया।आइजीआइएमएस में भर्ती जयंत।

Facebook Comments

About Rahul Kumar

Check Also

‘पिता को टिकट देने का दबाव बना रही थी ऐश्वर्या, कहती थी- वरना शादी का क्या फायदा’

उन्होंने लिखा है कि ऐश्वर्या बोलती थी कि अगर छपरा से मेरे पिता को टिकट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!