Breaking News

         

Home / बड़ी खबर / बिना वोट डाले नहीं जाऊंगी ससुराल, दुल्हन ने पकड़ी ज़िद तो टली विदाई

बिना वोट डाले नहीं जाऊंगी ससुराल, दुल्हन ने पकड़ी ज़िद तो टली विदाई

लखनऊ। लखनऊ में रहने वाली मनीषा कश्यप की शादी 18 फरवरी को होनी है। उसके दूसरे ही दिन यानि कि 19 फरवरी को विदाई होनी थी। लेकिन, मनीषा ने गजब की हिम्मत दिखाई है और एक बड़ा फैसला लिया है। मनीषा 19 को अपने ससुराल न जाकर मतदान केंद्र जाने वाली हैं, क्योंकि उनके विधानसभा क्षेत्र में उसी दिन मतदान होना है और मनीषा अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगी।
मनीषा कश्यप लखनऊ की रहने वाली हैं। इनकी शादी 18 फरवरी को लखनऊ में ही होनी है और 19 फरवरी को विदाई का दिन निर्धारित था। लेकिन, मनीषा ने 19 फरवरी को अपने ससुराल न जाकर मतदान केंद्र जाने का फैसला किया है। क्योंकि, 19 फरवरी को ही लखनऊ में मतदान होना है और वे अपने मताधिकार का पूरा प्रयोग करना चाहती हैं। मनीषा के पिता आवास विकास में ड्राइवर की नौकरी करते हैं। उन्होंने बताया कि बेटी की शादी 18 फरवरी को होनी है और बारात गुजरात से आएगी। उन्होंने बताया कि उसकी बिदाई 19 को  होनी थी लेकिन मनीषा ने अपनी जिद से उसे टाल दिया है।
वहीं, मनीषा बताती हैं कि एक दिन निर्वाचन आयोग के कर्मचारी आए और उन्होंने मताधिकार के प्रयोग के बारे में बताया। मनीषा ने बताया कि उसके बाद उन्होंने 19 को अपनी ससुराल न जाने का फैसला कर लिया, क्योंकि विदाई के दिन ही उनके इलाके में वोट डाले जाने हैं। मनीषा ने बताया कि उन्होंने ये बात अपने माता-पिता के सामने रखी। माता-पिता बिल्कुल भी इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं थे। शुरु में तो उन्होंने मनीषा की बात मानने से इनकार कर दिया, लेकिन मनीषा ने उन्हें मान जाने तक समझाया।
मनीषा के मनाने का ये सिलसिला यहीं नहीं थमने वाला था। मनीषा के घर वालों को उसकी ससुराल वालों के आगे भी उसकी ये सारी बातें रखनी पड़ीं। पहले तो ससुराल वालों ने भी विदाई की तारीख आगे बढ़ाए जाने से मना कर दिया, लेकिन आखिकार मनीषा और उसके घर वालों के बहुत समझाने पर वो भी राजी हो गए। मनीषा के इस फैसले से जहां उसके घर वाले बहुत खुश हैं, वहीं उसकी सहेलियां भी उसके इस फैसले को समाज को प्रेरणा देने वाला फैसला मानती हैं।
मनीषा की मां का कहना है कि उन्होंने खुद अपनी बेटी से कहा कि वोट जरूरी है कि शादी और विदाई तो मनीषा ने जवाब दिया की मेरे लिए वोट डालना ज्यादा जरूरी है। उन्होंने कहा कि ससुराल वालों को भी समझाया, फिर मनाने पर वो माने और कहा कि लड़की को वोट डालने दीजिए। मुझे मेरी लड़की पर गर्व है कि उसने फैसला लिया कि मुझे वोट डालना ही है।

Facebook Comments

About Ankesh Kumar

Check Also

ओवरटेकिंग करने के दौरान पिकअप ने मॉर्निंग वॉक पर निकले चार लोगो को रौंदा, एक की मौके पर ही….

अमित यादव : जिले के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के बासोपाली पुल के समीप स्थित पाटलिपुत्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!