Breaking News

         

Home / BLOG / पर्त्र्कारिता

पर्त्र्कारिता

Rajdeo ranjan file photo

सम्पादक की कलम से….. जो कलम सरीखे टूट गए झुकी नही,
उनके आगे यह दुनिया शीश झुकाती है ,,
जो कलम किसी कीमत पर बेचीं नही गयी,
वह तो मशाल की तरह उठाई जाती है….

हां आपने सही पढ़ा और सही महसूस किया…
12 फरवरी 1971 को एक ऐसे ही कलम के सिपाही का जन्म सिवान जिले पचरुखी प्रखंड के हकाम गाँव में हुआ था। जिन्हें समाज राजदेव रंजन के नाम से पहचानती है। उन्होंने अपने जीवनपर्यंत कभी भी कलम को थोड़ा भी झुकाने का प्रयासमात्र भी नही किया. हमेशा समाज के हित में सोचने वाले ऐसे शख्श को कुछ असामाजिक तत्वों ने समाज से हटा इस दुनिया से विदा कर दिया. वो तारीख 13 मई 2016 ईमानदार व् निष्पक्ष पत्रकारिता के ऊपर एक गहरा तमाचा दे मारा.  1994 में पहली बार पत्रकारिता में पाँव रखे कलम के इस बहादुर सिपाही ने और सिवान के कुख्यात अपराधी मो. शहाबुद्दीन के विरोध में लिखना शुरू कर दिया। जो उस वक़्त किसी भी पत्रकार में हिम्मत नही थी जो इस प्रकार के कदम उठा सके। इन्होंने इस चुनौती को स्वीकार किया और प्रण लिया कि इस असामाजिक और कुख्यात अपराधी को समाज से हटा कानून के हवाले करूँगा। करीब 24 वर्षो तक ये लड़ाई चलती रही और अंत में वही हुआ जो इस देश में होते आया है एक ईमानदार पत्रकार एक अपराधी के गोली का शिकार हो चला.
आज राजदेव रंजन जी का शरीर भले ही इस समाज से दूर है पर उनकी कलम की आवाज समाज में गूंजती रहेंगी. हर पल एक सवाल छोड़ती है इस समाज पर “क्या वास्तव में प्रेस स्वतंत्र है इस देश में ?” , “क्या वास्तव में प्रेस में काम करने वाले पत्रकारों की कलम ऐसा कुछ लिखने के लिए स्वतंत्र है जिससे समाज और देश का भला हो ?”  पर समाज ने हमेशा ही यही जवाब दिया कि न तो प्रेस स्वतंत्र है और न ही प्रेस में काम करने वाले पत्रकार. स्वतंत्र है तो केवल “हत्या” और हत्यारे!
श्रद्धांजलि अर्पित ऐसे पत्रकार ऐसे व्यक्ति को जिन्होंने अपने लिए बिना कुछ सोचे समाज को सजग और सूचित करने में अपने प्राण गवा दिए. श्रद्धांजलि अर्पित ऐसे शख्श को जोे  ऐसे अपराधी को चुनौती दिया जो शाम में उसके खिलाफ बोलता था रात में उसकी हत्या निश्चित होती थी और आपने 24 वर्षों तक संघर्ष किया पर झुके नही …नमन ऐसे महान आत्मा को..
Facebook Comments

About Rahul Kumar

Check Also

राजदेव रंजन हत्याकांड में शहाबुद्दीन की मुश्किलें बढ़ीं, 16 को तय होंगे आरोप

सिवान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड के मुख्य आरोपित पूर्व सांसद शहाबुद्दीन व अन्य आरोपितों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!