Breaking News

         

Home / खेल / क्रिकेट कप्तान के तौर पर 25 से ज्यादा टेस्ट शतक लगा सकते हैं विराट कोहली : गावस्कर
विराट कोहली टेस्ट कप्तान बनने के बाद से 9 शतक लगा चुके हैं (फाइल फोटो)

क्रिकेट कप्तान के तौर पर 25 से ज्यादा टेस्ट शतक लगा सकते हैं विराट कोहली : गावस्कर

नई दिल्ली: विराट कोहली के टेस्ट टीम का कप्तान बने दो साल का वक्त बीत चुका है. विराट के कप्तान बनने के बाद से उनका और टीम इंडिया का ग्राफ़ लगातार ऊंचा उठता दिख रहा है. पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर मानते हैं कि इसकी ख़ास वजह है विराट के आत्मविश्वास का बढ़ना. खुद विराट मानते हैं कि बड़ी ज़िम्मेदारी के अहसास से उनकी पारियां बड़ी होने लगी हैं. अपने चौथे दोहरे शतक के बाद विराट ने अपनी लंबी पारियों के राज खोले.
 
विराट ने कहा, “जब आप कप्तान होते हैं तो आप पहले से ज़्यादा टीम के लिए करना चाहते हैं. कप्तानी के तौर पर आप ढीले नहीं पड़ सकते. मेरी लंबी पारियों की ये भी एक वजह है.” जबकि पूर्व गावस्कर उनके दबाव में ना आने को उनकी बड़ी ख़ासियत मानते हैं. गावस्कर कहते हैं, “विराट जब रन बनाते हैं तो 200-250 रन बनाना चाहते हैं. कप्तान बनने पर जो दबाव दूसरे कप्तानों पर बनता है वो उनपर नहीं बन रहा है. क्योंकि उन्हें अपने हुनर पर भरोसा है.” सनी ये भी कहते हैं, “अगर बतौर कप्तान मेरे 11 शतक थे तो विराट के 25 या ज़्यादा भी बन सकते हैं. वो कम से कम 7-8 साल कप्तान के तौर पर खेल सकते हैं. अगर टीम इंडिया हर साल 10 टेस्ट भी खेलेगी तो आप खुद देखें कि वो कितने शतक बनाते नज़र आएंगे.”

विराट बताते हैं कि कप्तानी मिलने के बाद उन्होंने अपनी पारियों को बड़ा करने पर ख़ास काम किया है. इसलिए बतौर कप्तान उनके नाम 9 में से 4 दोहरे शतक हैं तो 9 में से छह पारियां 150 रनों से बड़ी हैं. दुनिया की नंबर 1 टीम के कप्तान कोहली कहते हैं, “मैं हमेशा से बड़ी पारियां खेलना चाहता था. मेरे पहले 7-8 शतक 120 रनों से भी बड़े नहीं होते थे. उसके बाद मैंने लंबी पारी खेलने पर काम किया. अब मैं अपने जोश पर नियंत्रण रखता हूं और ढील नहीं बरततता.”

दुनिया भर के जानकार मानते हैं कि विराट ने अपनी फ़िटनेस पर ज़बरदस्त काम किया है. यकीनन वीगन डायट पर होना विराट के लिए फ़ायदेमंद साबित हुआ है. टीम इंडिया के कप्तान कहते हैं कि वो अब पहले की तरह थकते नहीं हैं. विराट के गेम के प्रति उनके रवैये ने उनपर क्रिकेट एक्सपर्ट्स का भरोसा बढ़ा दिया है.

दिल्ली का ये दिलेर कहता है, “बदलते ही अपना गेम बदलना आज के क्रिकेट की ज़रूरत है. मैं तीनों ही फ़ॉमझ्ट में अच्छा करना चाहता हूं. यही मेरी सोच का तरीका है. ये नेट्स पर जाने से ज़्यादा दिमाग में बदलने की बात है.

विराट के रनों की भूख और उनका रवैया बरक़रार रहे तो इस सीरीज़ के बाद ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ और आगे भी भारतीय टीम वर्ल्ड क्रिकेट में अपना दबदबा बनाती नज़र आएगी.

विराट कोहली टेस्ट कप्तान बनने के बाद से 9 शतक लगा चुके हैं (फाइल फोटो)
Facebook Comments

About Rahul Kumar

Check Also

IPL-11: 21 गेंदों पर 62 रन बनाने वाले इस युवा बिहारी बल्लेबाज को टीम इंडिया में मिली जगह

भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य इस समय बेंगलोर के नेशनल क्रिकेट एकेडमी में आगामी सीरीजों …

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!